Friday, June 15, 2018

SARCASM Meaning in Hindi and English - सार्केजम का हिंदी मतलव

Sarcasm Meaning in Hindi and English : दोस्तों इस पोस्ट में सार्केजम का हिंदी और इंग्लिश (मीनिंग)मतलव बताया गया है. जिसमे इसके सभी मतलवो को छोटे रूप और विस्तार से बताने की पूरी कोशिश की है ताकि आप इसके शोर्ट मीनिंग के साथ इसे विस्तृत तरीके से भी जान पाए तो चलिए जानते है Meaning of Sarcasm in Hindi and English को उदाहरण के साथ.

Sarcasm Meaning in Hindi and English :


Meanings of "Sarcasm" in Hindi -

Noun
 कटाक्ष
 कटुव्यंग्य
 कटूक्ति
 ताना
 व्यंग्य
 व्यंग्योक्ति
 व्यंग-कथ
 आक्षेप-वाक्य

Meaning of sarcasm in English -

Noun
witty language used to convey insults or scorn

Examples

- irony is wasted on the stupid.
- Satire is a sort of glass, wherein beholders do generally discover everybody's face but their own.

आपने इस शब्द के छोटे हिंदी और इंग्लिश मीनिंग को तो समझ ही लिया है यदि आप इनके उपयोग को विस्तार से जानना चाहते है तो आगे हमने इसके विस्तार रूप को अलग - अलग पहलू जैसे प्रभाव, उपयोग इत्यादि को काफी अच्छे तरीके से एक्सप्लेन किया है तो फिर देर किस बात की आईए आगे बड़कर पढ़ना शुरू करे -

Sarcasm Meaning in Hindi and English


What is the Meaning of Sarcasm in Hindi and English :


इनके मतलवो का विस्तार रूप -

- कटाक्ष का मतलव किसी वस्तु, पर्सन या कोई बात पर अपनी राय पेश करना जो कि हो सकती है उस निश्चित चीज के विरोध में या कहे कि उसके प्रति विरोध को प्रकट करना. इसमें यह जरुरी नही होता है उस निश्चित वस्तु, पर्सन आदि का आपसे कोई पहले का संबंध हो यह तो अचानक अपनी बात को प्रकट करने को बताता है.
उदाहरण - हमारे आसपास काफी सारे लोग और वस्तुए है. अब यदि आपको इनमे कुछ पसंद या समझ नही आता है तब आप इसके प्रति राय रख देते है इसे ही कटाक्ष कह सकते है. यह सीधा कटाक्ष किया जाता है.

- कटूक्ति से साफ़ जाहिर होता है यह किसी बात को बहुत कड़वे रूप में वाक्य के साथ पेश किया जाता है. यहाँ सीधा वार ना करके पक्ति के द्वारा अपनी बात रखी जाती है. यह भी काफी कड़वी बात शक्ति होती है इसमें सीधा तो नही किसी को कहा जाता लेकिन यह बहुत सी विपरीत चीजो को मिलाकर लक्ष्य को भेदने के लिए उक्ति का प्रयोग होता है.
उदाहरण - यह एक उक्ति होती है इसमें इतनी ज्यादा परेशानी नही होती है. यह काफी घुमावदार होता है.

- ताना यह सीधा ही किसी व्यक्ति पर फेस टू फेस ताना कसा जा सकता है. यह सीधा दिल पर गहरा असर करता है क्योकि इसमें डायरेक्ट एक व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति की कुछ गलती या कमजोरी को लेकर बात को इस तरह पेश करता है जो सीधा उसके दिल और दिमाग की बत्ती गुल भी कर देता है. जिससे ताना सहने बाले को काफी बुरा भी महसूस होता है.
उदाहरण - यह दो पर्सन के बीच होता है जो सकता है ये एक - दूसरे के बड़े दुश्मन भी हो. इसमें जिसे ताना मारा गया उसे काफी परेशानी और बुरा महसूस हो रहा होता है.

- व्यंग - कथा : इसमें किसी वस्तु व्यक्ति या फिर कोई भी बात को लेकर काफी विस्तार से उन पर बात की जाती है. यह अच्छी और बूरी दोनों प्रकार की हो सकती है. इसमें व्यंग कथाकार का सीधा संबंध होना भी जरुरी नही होता है कि दोनों शायद एक - दूसरे को जाने भी नही ये भी हो सकता है. व्यंग कथा एक बड़े रूप में होती है जिसमे सामने बाले पर विस्तार से एक निबंध की तरह बात होती है.

उदा.- यदि कोई व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति के बारे में कुछ व्यक्त करना चाहता है तब बह व्यंग - कथ का प्रयोग कर सकता है. इसमें दोनों के बीच कोई संबंध या एक - दूसरे को जानना भी जरुरी नही होता है. बस व्यंग लिखने वाले को कुछ जानकारी होना चाहिए. जिस पर वह व्यंग लिखने वाला है उस व्यक्ति के वारे में.

- आक्षेप वाक्य का मतलव किसी बात के विपरीत अपनी बात को एक वाक्य के रूप में रखना मतलव कही गयी बात के विपरीत अपनी राय को वाक्य के साथ प्रकट करना ही आक्षेप वाक्य है.
उदा.- यदि कोई आदमी किसी चीज या पर्सन को लेकर कुछ कहता है तव यदि इसके विपरीत कोई वाक्य कहा जाए तो वह आक्षेप वाक्य की श्रेणी में आ जाता है.

इसका प्रभाव :

 - कटाक्ष : यह मुख्य रूप से किसी बड़े लेखक के द्वारा व्यक्त किया जाता है जो कि एक विस्तार रूप में दिखयी पड़ता है यह विरोधाभाष को दर्शाता है इसका समाज, परिवार और हम पर अच्छा और बुरा असर पड़ सकता है. यह असर दोनों अच्छे और बुरे में प्रकट होना इसके पहलु पर निर्भर करने के साथ लोग इसे किस तरह देखना और अपने दिमाग में क्या छवि बनाते है इस पर डिपेंड होता है.

- कटूक्ति : यह एक उक्ति के फॉर्म में होता है इसमें एक लाइन में ही किसी बहुत सी बात कहने का दम होता है. चूकी इसके नाम में ही कटु मतलव कड़वा शब्द छुपा है तो यह जाहिर है. समाज और हम पर बूरा प्रभाव डाल सकता है. यह एक पंक्ति के रूप में पूरी तरह विपरीतता को दर्शाता है.

- ताना : इसमें बात को घुमा फिराकर गलत बताना ही इसे दर्शाता है. दो पर्सन या अधिक के बीच सीधी बात ना करके किसी दूसरी बात को जरिया बनाकर वार किया जाता है. इसका समाज, परिवार और हम पर हमेशा ही नकारात्मक इफ़ेक्ट पड़ता है. इससे मन मुटाव और रिश्तो में दरारे पैदा कर उन्हें पूरी तरह खत्म कर देता है.

- व्यंग कथ : यह किसी बड़े लेखक द्वारा लिखा विस्तार होता है पर दोनों पहलुओ नकारात्मक और सकारात्मक पर काम करता है. इसका प्रभाव बस एक व्यंग कथा के रूप में देखने को मिलता है.

- आक्षेप वाक्य : इसे देखकर साफ़ जाहिर होता है यह एक वाक्य की सकल में होता है. इसका कोई खास इफ़ेक्ट देखा नही जाता है.

इसका उपयोग :

- कटाक्ष : यह किसी उद्देश्य के लेकर बड़े ही गहन विचार में साथ प्रकट किया जाता है यह खासकर किसी अनुभवी लेखक या कवि द्वारा ही उपयोग में लाये जाते है.

- कटुक्ति : ये उक्तिया कोई भी आम आदमी उपयोग में ला सकता है लेकिन यह पूरी तरह नकारात्मक फैलाती है. ऐसे लोगो को समाज में एक अलग नजरो से देखने के साथ इनसे हमेशा दुरी बनाने की कोशिश करते है.

- ताना : यदि समाज में किसी को हर बात में ताना मारने की आदत लग जाए तो यह आदत आसानी से छूटती नही लेकिन इस आदमी से जुड़े सभी लोग इससे दूरी बनाना शुरू कर देते है इसलिए इसके उपयोग से जहा तक हो सके बचना चाहिए.

- व्यंग कथ : इसका उपयोग कोई अनुभवी आदमी जो शब्दों का गहरा ज्ञान रखने के साथ अच्छा लेखक हो करता है लेकिन इसका उपयोग अच्छे के लिए किया जाए तो ज्यादा सही होता है.

मुझे उम्मीद है आपको यह Sarcasm Meaning in Hindi and English की संक्षेप और विस्तार में सार्केजम का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) की जानकारी प्राप्त हो ही गयी होगी. इसके अलावा कुछ प्रश्नों Meaning of Sarcasm in Hindi और What is the Meaning of Sarcasm in Hindi and English के उत्तर भी आसानी से मिल ही गए होंगे. ऐसी ही अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहे.

No comments:

Post a Comment