Tuesday, June 26, 2018

YOGURT Meaning in Hindi and English - योगर्ट का हिंदी मतलव(मीनिंग)

Yogurt Meaning in Hindi and English : आज की पोस्ट का टॉपिक योगर्ट का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) है. तो फिर चलिए Meaning of Yogurt in Hindi and English को पढ़ते है. यहाँ आप इसके लिए छोटे और बड़े रूप को पढ़कर काफी कुछ जान पाएंगे.


Yogurt Meaning in Hindi and English :


मीनिंग ऑफ़ योगर्ट इन हिंदी - 

Noun 
 - दही.
 - दूध को जमाकर बनाया गया खाद्य पदार्थ.

मीनिंग ऑफ़ योगर्ट इन इंग्लिश - 

Noun
1. A custard-like food made from curdled milk.

यह एक बेस्ट आर्टिकल सावित होगा क्योकि हमने इसे बहुत सही और सरल में उदाहरण के साथ प्रस्तुत किया है. ऊपर अभी तक आपने योगर्ट का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) को संक्षेप में पढ़ा होगा लेकिन क्या आप इसे अधिक जानना चाहेंगे. यदि आपका उत्तर हां है. तब देर नही करना चाहिए. चलिए आगे बड़ते है.


Yogurt Meaning in Hindi and English

What is the Meaning of Yogurt in Hindi and English :


मीनिंग का वर्णन -

- दही, योगर्ट इसका इंग्लिश नाम है. अब यदि बात करे इसके बनने की तो आपको सब समझ आ जायेगा कि आखिर यह क्या है और इसे बनाने के किन - किन स्टेप से गुजरना पड़ता है. मेरे खयाल से आप दूध को भलीभाती जानते ही होंगे क्योकि इसे सभी घरो में रोज उपयोग लाया जाता है. 

वास्तव में दही, दूध को एक अलग प्रोसेस या कहे नए पदार्थ में बदलने की प्रक्रिया है. जब दूध को दही में परिवर्तित किया जाता है तव यह पूरी तरह नया बन जाता है जो मिल्क से डिफरेंट होता है.

चलिए इसके बनने की प्रोसेस के बारे में बात कर लेते है सबसे पहले दूध की कुछ मात्रा लेते है जितनी दही में बदलना हो लेते है, फिर इसमें कुछ बुँदे खटाई जैसे - नींबू इत्यादि की डालकर करीब 24 घंटे के लिए ऐसी ही स्थिति में रहने देते है. इसके बाद इसको मथनी से मथा जाता है ये पुराने ज़माने में होता था लेकिन आजकल मथने के लिए मशीनों का उपयोग किया जाने लगा है.

मथने की क्रिया पूरी होने के बाद दही आपके सामने होता है. इसके साथ एक तरल पदार्थ छाछ भी होता है. अब इसका उपयोग खाने के अलावा भी बहुत से कामो में ले सकते है. कुछ सालो पहले भारतीय समाज जो कि अधिकतर गाँवो में रहने बाले लोग जिनके पास गाय. 

भैस अधिक संख्या में हुआ करती थी. उस समय हर घर में इस दही को बनाने की प्रक्रिया चलती थी लेकिन आज आधुनिकता के चलते यह काम लोगो ने छोड़ दिया. उद्योग मतलव बड़े - बड़े डेरी फार्म इस काम को करके दूध के सभी प्रोडक्ट बनाकर लोगो तक पहुचाकर धन कमा रही है.

आधुनिकता के चलते भी बहुत से लोग गाँवो में अधिकतर घरो में आज भी गाय, भैस पालकर ये काम खुद करके दूध उत्पादन से दही और वाकी सभी प्रोडक्ट अपनी जरूरत के हिसाव से बनाना पसंद करते है. 

दूध, दही और इससे बनने बाले सभी पदार्थो की हर घर में जरूरत डेली पड़ती है, लेकिन आज ये औधोगिकरण का रूप ले चुके है जिससे बहुत सी जॉब निकल पायी और बहुतो को रोजगार मिला जिससे वे अपना जीवन ठीक से व्यतीत कर पा रहे. इसके औधोगिक विकास को आगे अच्छे से जानेगे. 

इसका प्रभाव -

- अब इसके प्रभाब को अलग जगह, समाज, देश, परिवार पर जानते है. हम सबसे पहले पुराने समय हमारे दादा परदादा के ज़माने में झाके और इस प्रक्रिया को देखे तो उस टाइम विकास उतना नही हुआ था जितना आज हो रहा है. 

पहले दूध के बाद दही प्रत्येक घर में बनता इसे महिलाये हाथो से ही मथती थी लेकिन आज इलेक्ट्रिक मशीने आ जाने से ये सब नही होकर तरीके बदल चुके है अब तो इसका उत्पादन बहुत सीमित घरो तक ही रह गया है.

- अब चलते है इनके औधोगीकरण की तरफ हम यहाँ केवल दही की ही बात नही कर रहे बल्कि उससे जुड़े सभी प्रोडक्ट को लेकर चलने बाले खासकर दूध को क्योकि इसी के बाद दही पदार्थ का निर्माण होता है.
इनके उद्योगों का शुभारम्भ मतलव व्यापार का आगमन करीब 50 से 70 वर्ष पहले शुरू हुआ था. 

जो शुरुआत में छोटे स्तर और बिना मशीनों से था लेकिन समय के साथ इनमे आधुनिकरण के चलते लगातार प्रोग्रेस की गयी और आज हम एक नही बहुत सी बड़ी इंडस्ट्री हमारे आस - पास देख पाते है.

इनके चलते दूध के हजारो प्रकार के सामान तैयार किये जाते है और आज लाखो लोगो को रोजगार भी हमारे देश में मिल पा रहा है. आज सबसे बड़ी डेरी इंडस्ट्री अमूल जो कि राजस्थान में स्थित है इन्हें श्वेत क्रांति की मिसाल दी जाती है.

- समाज का आर्थिक स्तर काफी सुधरा है ऐसा नही कि किसानो ने दूध उत्पादन बंद कर दिया बल्कि ये लोग गावो में उत्पादन को दिन प्रतिदिन बड़ा रहे इसका कारण बड़ी इंडस्ट्रीयो के द्वारा इन किसानो को उनके दूध का अच्छा पैसा देना भी है ताकि वे प्रोत्साहित होकर ज्यादा मात्रा में मिल्क को बडाये. 

मिल्क पर ज्यादा बात इसलिए कर रहे क्योकि इससे ही दही और वाकी सभी पदार्थ बनते है मतलव यह इनकी नीव है. आज बहुत से किसान इन्ही की बदौलत अच्छा मुनाफा कम रहे. देश का आर्थिक विकास और रोजगार के अवसर में इनका भी काफी हाथ है. इनसे बनने बाले प्रोडक्ट में लगातार परिवर्तन के साथ - साथ इनमे इनोवेशन भी तेजी से बड़ता जा रहा है.

इसका उपयोग -

- दही, इस शब्द को आपने कही ना कही जरुर सुना होगा. यह मिल्क का एक परिवर्तन रूप है चूकी इसे प्रोसेस से गुजारकर बनाया जाता है जिससे यह दही में बदल जाता है.
मंथन के बाद दही और छाछ को अलग - अलग कर इसे प्राप्त करते है यह विशेष प्रक्रिया है. इस पूरी क्रिया में बने पदार्थ को ही हम दही कहते है.  

दोस्तों आपको इस पोस्ट Yogurt Meaning in Hindi and English के द्वारा योगर्ट का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) से बहुत कुछ सीखने, जानने को जरुर मिला होगा. इसके साथ ही कुछ जुड़े सवाल "Yogurt" in Hindi Meaning, What is the Meaning of Yogurt in Hindi and English के जबाब भी मिले होंगे जो अधिकतर लोगो द्वारा भी पूछे जाते है. अधिक वर्ड के मतलवो के लिए सर्च बॉक्स का इस्तेमाल जरुर करे. 

No comments:

Post a Comment