Saturday, July 21, 2018

EXCEPT Meaning in Hindi and English - इक्सेप्ट का हिंदी इंग्लिश मतलव(मीनिंग)

Except Meaning in Hindi and English : फ्रेंड्स मैं आज बताने जा रहा हूँ वर्ड इक्सेप्ट का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग). Meaning of Except in Hindi and English की definition के साथ पूरे अर्थ को जानने के लिए पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े.

Except Meaning in Hindi and English :


मीनिंग ऑफ़ इक्सेप्ट इन हिंदी -
 
Noun 
  •  शामिल नहिं करना.
Verb 
  •  आपत्ति उठाना.
  •  छोड़ देना.
  •  को छोड़कर.
  •  अतिरिक्त.
  •  अलावा.
  •  टोकना.
  •  निकालना.
  •  सिवाय.
  •  विरोध करना.
Preposition 
  •  को छोड़ कर.
  •  के सिवा.
  •  के अतिरिक्त.

डेफिनिशन एंड मीनिंग ऑफ़ इक्सेप्ट इन इंग्लिश -

Verb
1. Prevent from being included or considered or accepted.
Example
- Leave off the top piece.

2. Take exception to.


मुझे लगता है आपने ऊपर शब्द इक्सेप्ट का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) के संक्षेप रूपों में छोटे - छोटे अर्थ और pronunciation को पढ़ा होगा और उन्हें समझने की कोशिश के साथ उन्हें अपने दिमाग में मोजूद चीजो से रिलेट भी किया होगा. 

लेकिन हमने इसी बात का खयाल करते हुये आपकी द्वारा किये जाने वाले इस वर्क को थोड़ा और आसान बना दिया है क्योकि हमने इन्ही मतलवो को लेकर बहुत से प्रभावों और उपयोग के साथ उनको आपके सामने प्रस्तुत किया ताकि उन्हें पढ़कर सभी जानकारी के जरिये इस वर्ड को याद करने में सुविधा हो और इसे यूज़ कर पाए. तो चलिए आगे बड़ते है.

except-meaning-in-hindi-english


What is the Meaning of Except in Hindi and English :


सभी वर्डो का विस्तार रूप -

- टोकना, यह वर्ड का तात्पर्य किसी वस्तु या इंसान को टोक कर बीच से उसको बाहर करना, याने इसे थोड़ा विस्तार से समझे तो यदि इंसान को ले तो वह अपनी बात को रख रहा है लेकिन तभी अचानक बातो के बीच में तीसरा व्यक्ति उसे रोककर अपनी बात को प्रस्तुत करने लगता है तव हम इस शब्द को इस स्थिति के लिए सार्थक मानेगे.

- निकालना, इस शब्द को हम सजीव और निर्जीव दोनों प्रकार के लिए लेंगे. अब यदि सजीव मतलव इंसानों को ले तब यदि बहुत से व्यक्तियों के ग्रुप में से कुछ को किसी कारणवश बाहर करना भी इसकी पुष्टि करता है तथा निर्जीव वस्तुओ में से जो पसंद ना हो या कोई भी करणवश उन चीजो को अलग हटा देना भी इसके अंतर्गत आता है.

- छोड़ देना, इसके अंतर्गत कुछ ऐसी वस्तुये आती है जो जाने - अनजाने, चाहकर या ना चाहते हुये भी कुछ चीजो को जिंदगी की राह में छोड़ना पड़ती है. उदहारण के तौर पर देखे तो एक व्यक्ति जो सफलता के लिए रात - दिन एक कर देता है जिसके चलते वह अपनी खुशिया, चीजो, रिस्तो आदि को पूरा समय नही दे पाता. जिससे वे उसके छुटी हुयी मान सकते है.

- विरोध करना, इसे सजीव चीजो के अंदर लेकर आगे बड़े तो व्यक्ति का किसी सर्कल में कुछ बातो को लेकर विरोध करना ताकि उसे बाहर किया जाये और उस जगह अपना राज जमाया जाए. 

जहाँ कोई भी किसी के भी प्रति विरोध प्रकट कर सकता है चाहे वह अच्छा हो या बूरा यह उस इंसान पर निर्भर करता है या उस स्थिति के घटित होने पर. अक्सर ये रिस्तो, दोस्तों, कार्य स्थल आदि लाइफ की बहुत सी जगह पर देखने को मिलती है.

- सिवाय, अब यदि इस शब्द की बात करे तो इसे हम 'के अलावा' से भी जान सकते है. उदहारण के तौर पर एक school है जहाँ 50 student में राम भी एक स्टूडेंट है अब स्कूल राम के अलावा सभी को घुमाने के लिए लेकर जाती है. दूसरा उदहारण कि इस वस्तु या इंसान के सिवाय और कुछ मंजूर नही है.

वर्डो के प्रभाव -

- टोकना, हम आसपास ऐसे काफी सारे लोगो को देखते है जिनकी आदत में ही टोकना होता है याने वे प्रत्येक व्यक्ति के कार्यो, चीजो आदि में कुछ ना कुछ मिस्टेक या खुबिया निकालते रहते है. 

ये आदत सामने बाले को तब तक ही अच्छी लगती है जब तक उसकी खूबियों की तारीफ होती है लेकिन जैसे ही बुराई पर बाते छेड़ी जाती है वैसे ही सामने स्थित व्यक्ति झल्ला जाता है और घुस्सा होकर या तो बड़ी लड़ाई हो जाती है या उन दोनों में दूरिया हमेशा के लिए बड़ जाती है.

यदि टोकने वाली की यह आदत हमेशा बनी रहे तो यकीन मानिए हर पर्सन उससे दुरिया बनाना शुरू कर देता है और इन व्यक्तियों का ध्यान फालतू की बातो में ज्यादा रहता है जो कि समाज कल्याण और विकास के लिए मौजूद काविलियत के लिए पर्याप्त नही है याने तरक्की की उम्मीद इनसे तो लगायी नही जा सकती है.

- निकालना, जब अच्छी चीजो और लोगो के सही जगह से निकाल दिया जाता है तो मान लो तरक्की की गाड़ी का एक पहिया निकाल लिया हो. 

अब आप जानते ही है कि गाड़ी कैसे चलेगी बस यही स्थिति यहाँ भी लागु होती है हमे विकास चाहिए तो ऐसे लोगो को प्रोत्साहित करने उन्हें आत्मविश्वास का पाठ पड़ाते रहना ही होगा तब जाकर ये व्यक्ति सोसाइटी और देश के साथ सभी के लिए कुछ सम्मान जनक कार्य कर पायेंगे. 

इसके विपरीत हमे निकालना ही है तो फालतू लोगो को समाज इ दूर करना होगा या भौतिक या मानसिक रूप से तभी विकास संभव होगा, नही तो बूरी स्थितिया प्रगति के मार्ग में हमेशा रोड़ा बनती रहेगी.

- छोड़ देना, यहाँ ध्यान देने बाली बात यह है कि किन चीजो को छोड़ना और किन्हें नही. इन बातो को बड़ी अच्छी तरह समझना होगा कि आप किन को प्राप्त करना और छोड़ देना चाहते है क्योकि बहुत बार जाने - अनजाने अच्छी चीजे छुट जाती और बूरी बातो को ग्रहण कर लिया जाता है. 

जो किसी भी पर्सन की आतंरिक और बाहरी ग्रोथ के लिए जिम्मेदार होती है. इसका असर फिर व्यक्ति के द्वारा किये कार्यो पर तथा परिवार, समाज के हित और कल्याण को प्रभावित करती है जिनके रिजल्ट नेगेटिव व पॉजिटिव दोनों ही देखने को मिल सकते है.

- विरोध करना, किसी वस्तु, पर्सन आदि के विरोध जाने से पहले उसे ठीक से समझ लेना जरुरी है क्योकि कई बार जीवन में आगे बड़ाने बाली बाली वस्तुओ को विरोध की लिस्ट में डाल दिया जाता है जो कि जन जीवन को आगे बड़ाने के उद्देश्य के एकदम विपरीत दिखाई पड़ता है.

इनके उपयोग -

- टोकना, अचानक अच्छी या बूरी बात को लेकर सामने बाले को नर्वस करना, इस शब्द को उपयोग में लेते है.

- निकालना, किसी वर्ग समूह से चीजो को बाहर करने हेतु यूज़ में लिया जाता है.

- छोड़ देना, खुद से जुड़ी चीजो को दूर करने की स्थिति के लिए वर्ड का उपयोग करते है.

- विरोध करना, वस्तुओ को ना - पसंद करने की स्थिति को दर्शाने हेतु इस शब्द को उपयोग में लेते है.

डिअर फ्रेंड आपको इस पोस्ट "Except Meaning in Hindi" and English के द्वारा इक्सेप्ट का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) से बहुत कुछ जानकारी विस्तार से प्राप्त हो चूकी होगी. यह पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट में अपनी राय देना ना भूले. इसके अलावा हमने What is the Meaning of "Except" in Hindi and English, Except Me Meaning in Hindi को भी इस आर्टिकल के जरिये समझाने की कोशिश की है. अधिक शब्दों के मीनिंग के लिए ऊपर सर्च बॉक्स का इस्तेमाल करे.

No comments:

Post a Comment