Saturday, July 21, 2018

FATIGUE Meaning in Hindi and English : फटीग का हिंदी इंग्लिश मतलव(मीनिंग)

Fatigue Meaning in Hindi and English : आज की पोस्ट में word फटीग का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) के बारे में जानेगे. Meaning of Fatigue in Hindi and English की definition और pronunciation के लिए इस आर्टिकल को आखिर तक जरुर पढ़े.

Fatigue Meaning in Hindi and English :


मीनिंग ऑफ़ फटीग इन हिंदी -
 
Noun 
  •  थकान.
  •  थकावट.
  •  परिश्रम.
  •  मेहनत.
  •  श्रम.
  •  हार.
  •  क्लांति.
Verb 
  •  थकाना. 

डेफिनिशन और मीनिंग ऑफ़ फटीग इन हिंदी -
     
Noun
1. Labor of a nonmilitary kind done by soldiers (cleaning or digging or draining or so on).
Example
- They were assigned to kitchen fatigues.

2. (Always used with a modifier) boredom resulting from overexposure to something.
Examples
- After watching TV with her husband she had a bad case of football fatigue.
- Political fatigue.

अब तक तो आपने जाना ही होगा शब्द फटीग का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) के सभी छोटे रूप को लेकिन आपके मन में इनको लेकर कुछ कनफूजन अवश्य ही होगा. तो दोस्तों इसी के चलते हमने प्रत्येक शब्द के अर्थ को बड़ी सुगमता से उनके प्रभावों और उपयोग करने के बारे में विस्तार वर्णन किया. आप आगे पेज को क्रोल करके जल्दी से बिना समय गवाए पड़ना स्टार्ट करे.

fatigue-meaning-in-hindi-english


What is the Meaning of Fatigue in Hindi and English :


सभी मतलवो का विस्तार -

- थकान, इसे हम केवल सजीव खासकर इंसान से रिलेट कर सकते है. आप और आपके आस - पास रोज प्रत्येक व्यक्ति काम करते देखा पाया जाता है. डेली 10 - 15 घंटे काम करने के बाद सभी को थकान हो जाती है और ये होना भी चाहिए क्योकि इंसानी शरीर को फिर से उर्जा को रिस्टोर करना होता है क्योकि लगातार कार्य करते रहने पर लगातार उर्जा की जरूरत होती है. 

यहाँ इस बात का अंतर देखा जा सकता है कि कौन कितना कार्य करता है. उसी के अनुसार किसी को कम तो किसी को ज्यादा थकान होगी. इसी के चलते सभी का आराम करने या सोने का समय भी अलग - अलग होगा. फटीग वर्ड को ले तो यह मोटापे की ओर इशारा करता है जो कि जल्दी थकने का प्रतीक माना जाता है क्योकि मोटे पर्सन अक्सर जल्दी थक जाते है.

- परिश्रम, यह सीधे मेहनत से जुड़ा शब्द है इसे हम थकान होने से पहले की स्टेप से जान सकते है याने परिश्रम के बाद ही थकान उत्पन्न होती है. हम आस-पास बहुत ज्यादा और बहुत कम मेहनत करने बाले लोगो को देखते है. जितनी भी फील्ड या व्यापार है सभी स्थानों पर केवल परिश्रम की महता है. परिश्रम के अंतर्गत फील्ड, ऑफिस, होम, कैफ़े राइटिंग वर्क भी आते है और सभी में मेहनत कम या ज्यादा लगती है.

- हार, याने जीत की उम्मीद छोड़कर अन्दर से टूटा हुआ महसूस करना. जब व्यक्ति बार - बार प्रयास करता है कुछ पाने कि तब वह थककर अन्दर से बिखर जाता है और लास्ट में हार मानकर बाहर हो जाता है. 

यह वर्ड थोड़ा अलग प्रतीत होता है ऊपर के थकान और परिश्रम से क्योकि इसके अंतर्गत पर्सन शारीरिक तौर पर ना थककर आतंरिक रूप से बिखर जाता है. उसका आत्मविश्वास डगमगा जाता है और अंतत जीतने की उम्मीद पूरी तरह धरासाही हो जाती है या यह कहे युद्ध के मैदान से बाहर निकल जाता है. 

शारीरिक थकान में तो थोड़ा आराम करके दोवारा प्रयास किया जाता है लेकिन इसमें आतंरिक रूप से थकने के बाद दोवारा खड़ा होना बहुत मुश्किल शावित होता है.

इन सब के प्रभाव -

- थकान, काम करने बाले सभी लोगो को थकान होना लाजमी है पर इसकी सही दिशा होना या ना होना दोनों से ही परिणाम अलग - अलग प्राप्त होंगे. 

जैसे कोई पर्सन थक तो रहा लेकिन एक गलत दिशा में कार्य करके याने उसका थकना बेकार ही है और इसका रिजल्ट ज्यादा कुछ देने बाला नही होगा बल्कि उसे बहुत घातक परिस्थितियों से गुजरना पड़ सकता है जो कि उसके स्वास्थ्य और समाज के साथ कंट्री की तरक्की में बाधक बनेगी.

दूसरी ओर पर्सन एक दिशा को लेकर कर्म करता है फिर थकान है तो यह सार्थक सिद्ध होगा तथा परिणाम ऐसे मिलेंगे जिसकी कभी कल्पना भी नही की होगी. साथ ही ये रिजल्ट उसकी लाइफ को उस स्थान तक पहुचायेगा जहाँ वह केवल सपनो में ही देखता था. इस प्रकार व्यक्ति खुद की तरक्की के साथ देश को आगे बड़ाने में अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी भी निभायेगा.

- परिश्रम, चूकी यह थकान से पहले का चरण है जिसमे केवल मेहनत की जाती है. कोई ज्यादा तो कोई कम. हालाकि परिश्रम दो तरह किया जाता है पहला शारीरिक रूप याने बॉडी का ज्यादा इस्तेमाल होना और दूसरा जिसमे मानसिक रूप से याने दिमाग का इस्तेमाल बहुत ज्यादा किया जाता है. 

शारीरिक परिश्रम एक जगह ना बैठकर चलने - फिरते कर्म होता है तथा इसके विपरीत मानसिक कार्य में एक स्थान पर बैठकर लगातार वर्क करना पड़ता है. दोनों प्रकार में प्रभाव सकारात्मक और नकारात्मक दिखाई पड़ते है जिससे उनका इफ़ेक्ट कार्य के स्तर के अनुसार परिणाम सामने लाता है.

- हार, थकान शारीरिक रूप में होती है लेकिन हार आतंरिक रूप से थककर अन्दर से टूटने को व्यक्त करता है बहुत बार टट्राय करने और अपने सपनो को ना प्राप्त कर पाने के कारण व्यक्ति टूट कर खुद को हारा हुआ मानने लगता है और अंतत वह प्रयास करना छोड़ हताशा होकर बैठ जाता है लेकिन आप जानते है. उसके इन फैसलों का कितना बूरा असर पड़ सकता है हमारे समाज, देश की प्रगति में.

- थकाना, इसके अंतर्गत किसी को खुद के काम पर लगाकर उसे पूरी तरह थका देना मतलव ज्यादा से ज्यादा कार्य कराना. उदहारण से जाने तो ऑफिस में बॉस अपने नीचे के लोग जो नौकरी करते है उनसे इतना काम कराते है. जिससे वे पर्सन थक जाते है. इसका प्रभाव इतना होता है कि कर्मचारी अपने बॉस के इस व्यवहार के प्रति थोड़ा नाराज हो जाते है.

इनके उपयोग -

- थकान, कार्य के चलते शरीरिक या मानसिक रूप से थकने को व्यक्त करने हेतु इसका यूज़ करते है.

- परिश्रम, मेहनत करने बालो को दर्शाने के लिए उपयोग करते है.

- हार, आत्मविश्वास का कमजोर होकर अन्दर से टूट जाना, इस शब्द से दर्शाते है.

- थकाना, किसी को काम पर लगाकर उससे जमकर कार्य करवाने से रिलेट करने के लिए यूज़ में लाते है.

दोस्तों आपको पोस्ट "Fatigue Meaning in Hindi" and English से जानकारी फटीग का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) मिली होगी. अपने सुझाव इस आर्टिकल से सम्बंधित हमे कमेंट बॉक्स के जरिये जरुर बताये. हमने कुछ सवालों What is the Meaning of "Fatigue" in Hindi and EnglishFatigue Meaning in Hindi के जवाव भी इसके माध्यम से बताये है. उम्मीद है आपको सब समझ आया होगा. 

No comments:

Post a Comment